Wednesday, October 5, 2022

Buy now

सिक्योरिटी गार्ड ने उङता हुआ प्लेन नहीं देखने दिया तो 5वीं पास शख्स ने बना डाला एयरकाफ्ट

कभी-कभी हुनर, काबिलियत और करने की दृढ़ संकल्प पढ़ाई को भी पीछे छोड़ देता है। ऐसा की बार देखने को मिला से कि कम पढा-लिखा शख्स भी ऐसे चीजों का निर्माण कर देता है जिस पर यकीन करना मुश्किल हो जाता है। एक ऐसा हीं वाकया हाल के दिनों में घटित हुआ है। दरअसल एक शख्स जो पाचवीं पास है उसने एक एयरकाफ्ट बना दिया है और अब उसे उड़ाने की अनुमति मांग रहा है। है ना दिलचस्प बात…! आईए जानते हैं विस्तार से इस कहानी को…

राजस्थान के चुरू जिले एक के एक छोटे से गांव के रहने वाले बजरंग की कहानी बेहद आश्चर्यजनक करने वाली है। बजरंग पेशे से एक दुकानदार हैं। एक दुकानदार से एयरकाफ्ट बनाने का सफर बङा हीं रोचक है। दरअसल बजरंग को बचपन से हीं उङते हुए जहाज देखने का शौक था। इस शौक को पूरा करने के लिए वे जयपुर इंटरनेशनल एयरपोर्ट पहुंचे थे ताकि वह टेक ऑफ करता हुआ प्लेन देख सकें। लेकिन होनी को तो कुछ और हीं मंजूर था। सिक्योरिटी गार्ड ने उन्हें अंदर जाने से मना कर दिया जिससे वे टेक ऑफ होते हुए प्लेन को नहीं देख पाए। बस फिर क्या था बजरंग के मन में इस बात को लेकर काफी रोष हुआ और उन्होंने खुद एक एयरकाफ्ट बनाने का खान दिया।

यह भी पढ़ें:-भारतीय दुल्हन की तरह तैयार हुई नाइजीरियन महिला, सोशल मीडिया पर कई देशों के लोग कर रहे तारीफ

कहते हैं ना कि “असफलता सफलता की सीढि मानी जाती है”। सोंचिए अगर एयरपोर्ट पर बजरंग को सिक्योरिटी गार्ड अंदर जाने से नहीं रोकते और बजरंग का प्लेन देखने का बचपन का सपना पूरा हो जाता तो हो सकता है उनके अंदर एयरकाफ्ट बनाने का विचार नहीं आता। एयरपोर्ट के अंदर जाने में विफलता हीं उन्हें एयरकाफ्ट बनाने के लिए प्रेरित किया और फिर बजरंग ने उसे सही साबित किया।

बजरंग को इस एयरकाफ्ट बनाने में 8 साल का लंबा वक्त लगा। इतने लंबे वक्त तक निरन्तर एक प्रोजेक्ट पर काम और सफलता पाना उनके काम के प्रति दृढ़ता को प्रदर्शित करता है। बजरंग उर्फ बृजमोहन एक मोबाइल की दुकान चलाते हैं ऐसे में एयरकाफ्ट बनाने में जितने पैसे की जरूरत होती वह उनके बलबूते की बात नहीं थी। बकौल बजरंग उनके इस कार्य में 10-12 लोगों ने आर्थिक मदद की है। आपको बता दें कि बजरंग को इस एयरक्राफ्ट बनाने में 15 लाख रुपए का खर्च आया है। उन्होंने यह बताया कि इसमें वैगनआर कार का इंजन लगा है और फ्यूल टैंक लगभग 45 लीटर का है इतने इंधन में लगभग 150 किलोमीटर तक उड़ान भरी जा सकती है।

बजरंग पहले से ही हुनरमंद रहे हैं। उन्होंने इस एयरक्राफ्ट को बनाने से पहले 1 ड्रोन भी बनाया था। जिसमें उन्होंने कंप्यूटर हार्ड डिस्क में लगने वाले मोटर का प्रयोग किया था। इस ड्रोन को बनाने के बाद उन्होंने इसे आसमान में भी उड़ाया।

यह भी पढ़ें:-विदेश में बसना है तो जान लें दुनिया के वो देश जो अपने यहां रहने के लिए देते हैं लाखों रूपए

एयर क्राफ्ट बनाने के बाद बजरंग इसे उड़ाने की अनुमति मांग रहे हैं तथा इस अविष्कार के लिए वह सरकार से आर्थिक मदद की भी गुजारिश की है। जो भी बजरंग के इस अविष्कार के बारे में सुन रहा है वह आश्चर्यचकित हो जा रहा है कि कैसे 5वीं पास शख्स ने एक एयरक्राफ्ट का निर्माण किया है। यह वाकई बजरंग और बृजमोहन की गहरी काबिलियत को दर्शाता है और उन लोगों के लिए एक सकारात्मक संदेश भी देता है जो लोग कम पढ़े-लिखे होने के कारण अपने हुनर और काबिलियत को अंदर ही अंदर मार देते हैं।

Vinayak Suman
Vinayak is a true sense of humanity. Hailing from Bihar , he did his education from government institution. He loves to work on community issues like education and environment. He looks 'Stories' as source of enlightened and energy. Through his positive writings , he is bringing stories of all super heroes who are changing society.

Related Articles

Stay Connected

0FansLike
- Advertisement -

Latest Articles