Wednesday, October 5, 2022

Buy now

14 साल की दीक्षा ने ब्लैक होल पर लिखी थ्योरी, नासा से मिला फेलोशिप ऑफर

ऐसे तो आजकल के बच्चे जन्मजात हीं काफी तेज तरार हो रहे हैं। चाहे वह लड़के हो या लड़कियां। वे जिस क्षेत्रों में रुचि रखते हैं उन क्षेत्रों में अपनी प्रतिभा की बदौलत अपना और मां-बाप का नाम रोशन कर रहे हैं। आज हम बात करेंगे, एक ऐसी हीं लड़की की जिसका चयन नासा की फैलोशिप (NASA Fellowship) के रुप में हुआ है। अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा (US space agency NASA) द्वारा फैलोशिप के लिए चुने जाने पर चारों तरफ उसकी चर्चा हो रही है।

आईये जानते हैं उस लड़की के सफलता से जुड़ी सभी जरुरी बातें-

कौन है वह लड़की?

हम बात कर रहे हैं दीक्षा शिंदे (Diksha Shinde) की, जो की मूल रूप से महाराष्ट्र (Maharastra) के औरंगाबाद (Aurangabad) शहर में रहने वाली है। उनकी उम्र मात्र 14 साल हैं। दीक्षा के पिता कृष्णा शिंदे एक स्कूल में प्रिंसिपल हैं। उनकी मां रंजना शिंदे ट्यूशन क्लास लेती हैं। टीचर माँ-बाप की बेटी दीक्षा शिंदे ने अपनी प्रतिभा से अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा (US space agency NASA) को भी प्रभावित कर दिया है। दीक्षा शिंदे को नासा ने अपने यहां फैलोशिप के लिए चुना है। मिली जानकारी के मुताबिक, दीक्षा को नासा के एमएसआई फैलोशिप वर्चुअल पैनल पर पैनलिस्ट के रूप में चुना गया था। दीक्षा शिंदे ने बताया कि, उन्होंने ब्लैक होल और गॉड पर एक थ्योरी लिखी थी। तीन प्रयासों के बाद नासा ने उसे स्वीकार किया था। ―Diksha Shinde of Maharashtra has been selected in the fellowship of NASA.

कैसे चुनी गयी नासा की फैलोशिप?

नासा (NASA) की फैलोशिप के चुने जाने पर दीक्षा शिंदे (Diksha Shinde) और उनके माता-पीता काफी खुश है। अपने सफलता के बारे में बात करते हुए दीक्षा बतातीं हैं कि, उसने ब्लैक होल व भगवान पर एक सिद्धांत लिखा था और करीब तीन प्रयासों के बाद नासा ने इसे स्वीकार किया था। आपको बता दें कि, दीक्षा शिंदे के पहले भी महाराष्ट्र के कई छात्रों को अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा (US space agency NASA) द्वारा फैलोशिप के लिए चुना जा चुका है। ―Diksha Shinde of Maharashtra has been selected in the fellowship of NASA.

आजकल खुब चल रही है चर्चे

मात्र 14 साल की उम्र में इतनी बड़ी उपलब्धि हासिल करने वाले दीक्षा की आजकल खूब तारीफ हो रही है। उनके आगे बढ्ने पर लोगों ने दीक्षा को अपने सपनों को साकार करने के लिए प्रोत्साहित भी किया। इस दौरान एक ट्विटर यूजर्स ने लिखा कि, वह भारत का उज्जवल भविष्य हैं। अब अक्टूबर 2021 में होने वाले एक सम्मेलन दीक्षा हिस्सा लेने वाली है, जिसका सारा खर्च नासा (NASA) उठाएगा।

Related Articles

Stay Connected

0FansLike
- Advertisement -

Latest Articles