Thursday, September 29, 2022

Buy now

यह डॉक्टर पिछले 15 वर्षों से बुजुर्गों की सेवा में समर्पित कर चुके अपना जीवन, पेश किए मानवता की मिशाल

आज का युग एक ऐसा युग हैं जहा लोग सिर्फ और सिर्फ अपने बारे में सोचते हैं और सिर्फ अपने लिए पैसा कमाने का सोचते हैं जिसके लिए वो बईमानी भी करने को तैयार हो जाते हैं क्युकी आज के समय में लोगो के पास किसी भी व्यक्ति के लिए कोई वक्त नही हैं, क्युकी आज कल का जमाना इतना बदल चुका की लोग अपनी इंसानियत को भूल चुके, अगर किसी भी व्यक्ति को किसी सहायता की आवश्यकता हैं तो कोई भी इंसान उसकी सहयता के लिए नही रुकेगा। लेकिन आज के समय में भी कुछ ऐसे लोग है जिन्होने इस सोच को गलत साबित किया, और जिनके अंदर इंसानियत कूट कूट कर भरी हुई है। ये इंसान आज हम जिनके बारे में बात कर रहे है वे डॉक्टर है जिनके पास समय ना होने की बावजूद भी उन्होंने लकुछ समय निकाल कर समाजसेवा कीऔर कदम बढ़ाए। हर उन लोगो की चेहरे पे खुशी लाने की कोशिश की। जो अपनी जिंदगी में खुशी खो बैठे हैं

आज हम जिनकी बात करेंगे, उन्होंने अपनी भाग दौड़ की जिंदगी से कुछ समय निकाला और लोगो की तकलीफों को कम करने के लिए उनकी सहयाता करने लगे। आइए जानते हैं इनके बारे में…..

डॉक्टर उदय मोदी…

जिनकी हम बात कर रहे है उनका नाम डॉक्टर उदय मोदी (Doctor Uday Modi), जो गुजरात (Gujarat) के रहने वाले है, जो एक पेशे से डॉक्टर है काफी व्यस्त होने के कारण इनका शेड्यूल काफी व्यस्त है जिसके कारण ये काफी मुश्किल से समय निकाल कर समाजसेवा करने लगे। यह अपने परिवार के साथ मुंबई आए और वही रहने लगे। डॉक्टर उदय जो उन लोगो के लिए काफी कुछ सोचते । जिनको आज के समय में कुछ न कुछ सहारे की आवश्यकता है, इसी सोच के कारण इन्होंने कुछ ऐसा करना चाह की जिससे लोगो के चेहरे पे खुशी आ जाए। तो आपको बता दे की डॉक्टर उदय पिछले 15 सालो से बुजुर्गो को खाना खिला रहे है। और ऐसे नेक काम के लिए वो एक संगठन चला रहे है जहा टिफिन सर्विस के द्वारा बुजुर्गो की सेवा की जाती है जिस सर्विस का नाम “श्रवण टिफिन सर्विस” (ShravanTiffin Service) है जो लोगो के लिए नेक काम कर रहे हैं।

Dr. Uday Modi Shravan has been serving the elderly and destitute people since 15 years
Shravan Tiffin Service

क्यों शुरू की बुजुर्गो की सेवा….

कहते हैं की बुजुर्गो की सेवा करना काफी पुण्य का काम होता है लेकिन उससे भी बड़ा काम होता समाज सेवा कर काफी लोगो की सहायता करना। और यही पुण्य के काम के लिए डॉक्टर उदय ने अपना हाथ आगे बढाया। डॉक्टर उदय बताते है वो एक खुद का क्लीनिक चलाते है जहा कही अन्य लोग उनसे अपना इलाज करवाने आते हैं। तो उनमें से एक ऐसा बुजुर्ग उनके पास आया। जिसकी कहानी सुन कर उनके मन में बुजुर्गो के लिए खाना खिलाने का विचार आया।

अक्सर हर माता–पिता चाहते है की उनका लड़का जरूर हो। लेकिन आज कल के समय में लड़के अपने माता पिता की सेवा बिलकुल नहीं करते। जो माता पिता अपने बच्चो के लिए हर खुशी कुर्बान कर देते है लेकिन वही बच्चे जब उन्हे दो वक्त की रोटी नहीं देते तो उन माता पिता पे क्या बितती होगी। ऐसी ही कहानी थी उन इंसान की उन्होंने बताया की उनके तीन बेटे है और उनमें से कोई भी उन्हे और उनकी बीवी को नही देखता और उन्होंने बताया की उनकी बीवी को पैरालाइज अटैक आया है जिसकी वजह से उन्हे खाना भी नसीब नही होता। क्युकी वे बाहर से खाना भी नहीं खरीद सकते और न ही उन्होंने कहना बनाना आता है इसी वजह के कारण वो कही बार बिना रोटी खाएं भी सो जाते है। इनकी इस कहानी को सुन कर डॉक्टर ने संगठन की स्थापना की जो। बुजुर्गो के लिए टिफिन सर्विस का काम करने लगी और बुजुर्गो तक खाना पहुंचाने लगी।

यह भी पढ़ें:-चूड़ीवाली चेयरमैन: लोगों को चूड़ियां पहनते हुए बनाई पहचान, पहले सरपंच और अब बनी चेयरमैन

अकेले नही करते ये काम साथ देती है इनकी पत्नी….

इस नेक काम में डॉक्टर उदय अपने पूरे मन के साथ लोगो की सेवा करने में लगे हुए है वह उन व्यक्ति और बुजुर्गो की सेवा कर रहे है जो दो वक्त की रोटी के लिए सहारा ढूंढते है और इसी नेक काम में उनका साथ उनकी पत्नी दे रही वे इस काम में अपने पति को पूरा सहयोग कर रही है। उनकी सोच भी डॉक्टर उदय जैसी थी उन्होंने डॉक्टर उदय को कहर अपनी दीवार पर पोस्टर और पैंपलेट लगवाए। जिसपे यह लिखा गया था की कोई भी व्यक्ति हो भोजन के लिए जरूरतमंद हो और जो बेहसहरा हो ऐसे व्यक्ति हमारे से संपर्क करे।

ऐसा नहीं है की डॉक्टर उदय सिर्फ भोजन खिलाने का काम करते। जब भी उनके पास कोई बेहसाहरा व्यक्ति आता था तो वो उनकी पूरी बातो को सुनते और उस चीज का हल निकालने की कोशिश करते थे।

Dr. Uday Modi Shravan has been serving the elderly and destitute people since 15 years
बुजुर्गों की करते हैं सेवा

ऐसे नेक काम कर मिली दुआ….

डॉक्टर उदय जो अपने संगठन के साथ मिल कर हर उस व्यक्ति को खाना पहुंचा रहे है जो काफी जरूरतमंद हैं इनके इस संगठन में 20 व्यक्ति काम कर रहे है जिनमे से 2 व्यक्ति खाना बनाने का काम करते है। इस संगठन को चलाने के लिए हर व्यक्ति की लागत 1500 है और पूरे खाने की लागत करीबन 3 लाख हैं डॉक्टर उदय यह काम निकल नेक नियत से कर रहे और इस काम के लिए लोग उन्हे काफी दुआ दे रहे। क्युकी आज के ज़माने में ऐसे नेक काम करने वाले लोग बेहद ही कम मिलते है।

यह भी पढ़ें:-स्लम एरिया में रहने वाली एक महिला के ताने ने एक डॉक्टर को बना दिया कलेक्टर: IAS Priyanka Shukla

खाने की करते है खुद जांच….

डॉक्टर उदय का कहना है की वो लोगो के लिए टिफिन की सर्विस जरूर करते है लेकिन उसका यह मतलब नहीं है की सेवा करना सिर्फ टिफिन पहुंचना है डॉक्टर उदय कहते है की जब खाना बन कर तैयार होता है तो सबसे पहले वो उस खाने को चखते है उसके बाद उस खाने की टिफिन सर्विस di जाती है।

प्रेरणा…

डॉक्टर उदय जिन्होने आज कही लोगो को प्रेरित किया। क्युकी डॉक्टर उदय जो पेशे से डॉक्टर होने के बाद भी समय निकाल कर लोगो की सेवा में लगाया। डॉक्टर उदय जैसे लोग आज की दुनिया में बेहद ही कम देखने को मिलेंगे। हमे इनसे प्रेरणा लेकर लोगो की सहायता अवश्य करनी चाहिए।

Related Articles

Stay Connected

0FansLike
- Advertisement -

Latest Articles