Wednesday, October 5, 2022

Buy now

घर के गमलों में इस तरह उगाएं इलायची, बस कुछ बातों का रखना होगा ध्यान

इलायची हमारे घर का एक ऐसा तत्व है जिसे सभी खानों के व्यंजन में डाला जाता है। इसका उपयोग मानव के लिए फायदेमंद भी होता है। स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं में भी इसका कई तरह से इस्तेमाल किया जाता है तथा इलायची को माउथ फ्रेशनर के रूप में भी लोग खाते हैं। इसमें विटामिन सी,पोटैशियम और कैल्शियम के गुण युक्त होते हैं।

वैसे इलायची की खेती भारत में केरल, कर्नाटक और तमिलनाडु में की जाती है। क्योंकि वहां पर इनके ऊपर के अनुसार मिट्टी और प्राकृतिक वातावरण होती है। छोटी इलायची को अपने घर के गमले में हमारे बताए गए निर्देशों के अनुसार विधियों का अनुसरण करके आप आसानी से उगा सकते हैं। यदि घर के गमले में इसे लगाने के लिए इच्छुक है तो इसके अनुकूल कार्य करके इसे आसानी से उगाया जा सकता है।

Cardamom plant

इलायची उगाने की प्रक्रिया

इलायची को उगाने के लिए इसके बीज का प्रयोग करते हैं। सबसे पहले इलायची के बीज लाने का प्रबंध करते हैं। दुकानदार के यहां से लाए गए बीज कभी-कभी सूखे हुए भी मिल जाते हैं जिससे पौधे का निर्माण नहीं हो पाता है। इसलिए इलायची का बीज किसी नर्सरी या ऑनलाइन से अच्छे क्वालिटी के नए बीज मंगा सकते हैं। नए बीज मिट्टी में अच्छे से अंकुरित हो जाते हैं। बीज उपलब्ध हो जाने के बाद इसे एक चम्मच पानी में कुछ देर के लिए भिगोकर रख देंगे। फिर एक गमला लेंगे जिसमें लाल और काली मिट्टी को अच्छे से मिलाकर डाल देंगे। मिट्टी की जांच कर लेंगे कि उसमें कोई कीड़ा-मकोड़ा तो नहीं लगा हुआ है। यदि जिनके पास लाल मिट्टी उपलब्ध नहीं हो वह गोबर और कोको पीट का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। उसके बाद उसमें पानी का थोड़ा-थोड़ा छिड़काव करेंगे। फिर उसमें नए बीज को छिड़क देंगे। कुछ देर के बाद थोड़ी मिट्टी और कोको पीट मिलाकर उसमें पानी का छिड़काव करेंगे। अब उसे अंकुरित होने के लिए छोड़ देंगे।

यह भी पढ़ें:-मच्छरों से पाना चाहते हैं छुटकारा तो अपने घर में लगाएं ये पौधें: Mosquito Repellent Plants

यदि इलायची का बीज अच्छे किस्म का होता है तो इसे अंकुरित होने में 4-6 दिन का समय लग जाता है। ज्यादा हो जाए तो उसे कोई छेड़छाड़ किए रोज थोड़ी मात्रा में पानी का छिड़काव करना चाहिए। लगभग 1 महीना के बाद इसमें से बीज अच्छी तरह से अंकुरित होकर पौधा का रूप ले लेता है। पौधे के रूप में लेने के बाद इसे रोज सुबह में दो-तीन घंटे धूप में रखनी चाहिए। यदि पौधे का विकास अच्छी तरह से होता है तब यह 3 से 4 वर्षों में फल देता है। इलायची को गर्मी के सीजन में लगाया जाए तो उसमें जरूरत के अनुसार पानी देते रहना होगा। यही कारण है कि इलायची को बारिश के मौसम में ज्यादातर उगाया जाता है। इस मौसम में इसके लिए अनुकूल वातावरण मिल जाता है।

वीडियो यहाँ देखें:-👇👇

इलायची को उगाते समय ध्यान देने योग्य सावधानियां

इलायची के पौधों को जल्दी विकसित करने के लिए किसी भी रासायनिक खाद का प्रयोग नहीं करना चाहिए। अपने घर से बनी हुई चीजों का या गोबर का ही उपयोग करना चाहिए। गमले का चयन इलायची के उगाने के उपयुक्त होनी चाहिए। जिससे कि गमला ना ज्यादा बड़ा और ना ही ज्यादा छोटा होना चाहिए । जब बीज अंकुरित होकर पौधे का रूप लेती है तब इसे सुबह के समय में धूप में रखना आवश्यक होता है। वैसे इलायची के पौधे को छांव में ही रखना चाहिए। बारिश का मौसम इलायची को उगाने के लिए सबसे उपयुक्त माना जाता है। अच्छे बीज को चयनित कर के उसे व्यवस्थित रूप से बागवानी करने से हम सभी अपने घर के गमले में भी इलायची को भी उगा सकते हैं ।

Related Articles

Stay Connected

0FansLike
- Advertisement -

Latest Articles