Thursday, September 29, 2022

Buy now

पत्तल का कारोबार आपको कर देगा मालामाल, कम लागत में देता है बेहतर मुनाफा: ऐसे लगाएं यूनिट

आजकल के समय में बढ़ती जनसंख्या और महंगाई के कारण नौकरी मिलना बहुत मुश्किल होता जा रहा है, इसके कारण अब बहुत सारे लोग बेरोजगार हो चुके हैं और वे तरह-तरह के कारोबार शुरु कर रहे हैं। आज हम बात करेंगे पत्तल बनाने वाले कारोबार और उसे बनाने वाले मशीन के बारे में, जो कि आजकल ग्रामीण क्षेत्रों में बड़ी दिलचस्पी से किया जा रहा है।

तो आईए जानते हैं उस कारोबार और उसके मशीन के बारे में विशेष जानकारियाँ-

कैसे शुरु करे पत्तल बनाने का कारोबार

पत्तल आजकल के समय में घर के अनेकों कामों तथा सभी तरह के पार्टी में इस्तेमाल होने वाली एक जरुरियात चीज है। इसका इस्तेमाल विभिन्न तरह के त्योहारों और मौकों पर प्रसाद देने से लेकर भोज खिलाने तक में किया जाता है। यूँ कहें तो इसका इस्तेमाल सभी क्षेत्रों में है। आज के समय में लोग विभिन्न प्रकार की बीमारियों से बचने के लिए प्लास्टिक प्लेट के जगह पेपर प्लेट का उपयोग कर रहे हैं और यही कारण है कि इसका मार्केट में भारी मात्रा में डिमांड है।

यह भी पढ़ें:-झुग्गी-झोपड़ी में रहते हुए भी जारी रखे संघर्ष, आज अपनी मेहनत के बदौलत खड़ा किए करोड़ों का कारोबार: Physicswallah

अगर परिस्थिति के अनुसार इसका कारोबार शुरू किया जाए तो अच्छा मुनाफा कमाया जा सकता है। इसका कारोबार शुरु करने से पहले बाजार में इसकी मांग, व्यापार शुरू करने के लिए कुल लागत, लाइसेंस लेने की प्रक्रिया के बारे में जानकारी लेना बहुत हीं आवश्यक होता है। इसके बाद इसे बनाने की प्रक्रिया में लगी जाती है जिसके लिए सबसे पहले विभिन्न तरह के पेपर प्लेट बनाने वाले मशीन की जरूरत होती है।

वीडियो देखें:-👇👇

पेपर प्लेट मशीन खरीदे

पत्तल बनाने के लिए सबसे पहले इसका मशीन होना बहुत हीं जरुरी होता है। सबसे पहले अगर हम इसकी कीमत की बात करें तो इसकी सिंगल और डबल डाई वाली मशीने की कीमत 30,000 हजार से लेकर 80,000 हजार तक की है। लेकिन अगर बड़े पैमाने पर पतल बनाने हो तो इसके लिए फुल्ली आटोमेटिक मशीन लेना जरुरी होता है, इस मशीन की कीमत 1.5 लाख से 10 लाख के मध्य आती है। बता दें कि, पत्तल बनाने वाली मशीन भी तरह-तरह की होती है, जैसे सिंगल डाई मशीन, डबल डाई मशीन, हन्द्प्रेस मशीन, सेमी आटोमेटिक तथा फुल्ली आटोमेटिक आदि।

कैसे काम करती है मशीन?

पेपर प्लेट बनाने वाली मशीन में एक तरफ से पेपर लगया जाता है तथा दूसरे तरफ जिस आकार का फार्मा सेट किया जाता है उस आकार का पत्तल निकलना शुरु हो जाता है। इस तरह इस मशीन की प्रक्रिया चलती है। पेपर प्लेट को विभिन्न आकारों में ग्राहक के जरुरत के हिसाब से बनाया जाता है। इन मशीनों की मदद से 1 घण्टे में लगभग 3 हजार के करीब पतल तैयार होता है। पत्तल का उत्पादन होने के बाद इसे बंडल में पैक करना होता है तब जाकर इसे बिक्री के लिए बाजार भेजा जाता है।

यह भी पढ़ें:-पेपर कप बनाकर रोज कमाएं 5-6 हजार रूपये, ऐसे लगाएं यूनिट

लाखों की आमदनी

आजकल के समय में लोग ग्रामीण क्षेत्रों में भी पेपर प्लेट बनाने वाले मशीन के जरिए अच्छी कमाई कर रहे हैं। इस कारोबार में अच्छी खासी कमाई भी है। अगर पेपर प्लेट की कीमत की बात करे तो यह उसके पेपर की क्वालिटी, पत्तल के आकार पर निर्भर करता है।

निधि भारती
निधि बिहार की रहने वाली हैं, जो अपनी पढ़ाई पूरी करने के बाद अभी बतौर शिक्षिका काम करती हैं। शिक्षा के क्षेत्र में कार्य करने के साथ ही निधि को लिखने का शौक है, और वह समाजिक मुद्दों पर अपनी विचार लिखती हैं।

Related Articles

Stay Connected

0FansLike
- Advertisement -

Latest Articles