Tuesday, September 27, 2022

Buy now

काली मिर्च की खेती से मात्र 1000 रुपयों में कमाए 10000 रूपयों का मुनाफा, छत्तीसगढ़ के किसानों ने बताया तरीका

सब्जियों के स्वाद को बढ़ाने वाली काली मिर्च दक्षिण भारत के प्रमुख फसलों में से एक है। दक्षिण भारत में काली मिर्च की खेती बड़े आसानी से की जाती है। यहां का वातावरण काली मिर्च की खेती के लिए उपयुक्त होता है लेकिन अब इस खेती को छत्तीसगढ़ के किसान भी कर रहे हैं। – know about pepper farming as Chhattisgarh farmers are growing pepper in their land

छत्तीसगढ़ के कोंडागांव में किसान काली मिर्च की खेती करके उत्तम फसलों का उत्पादन कर रहे हैं।

इस गांव के किसानों ने काली मिर्च का उत्पादन करके साबित कर दिया है कि मेहनत और लगन से असंभव कार्य को भी किया जा सकता है। रिपोर्ट के अनुसार कोंडागांव स्थित मां दंतेश्वरी हर्बल फॉर्म में जैविक तकनीक की मदद से कई औषधियां उगाई जाती हैं। यहां के मालिक श्री अनुराग त्रिपाठी ने काली मिर्च की फसल लगाई है। बहरहाल अब तकनीक और नए प्रयोगों के जरिए खेती में भी नए प्रयोग किए जा सकते हैं, जिसका उदाहरण काली मिर्च की खेती से सामने आ रहा है। – know about pepper farming as Chhattisgarh farmers are growing pepper in their land

काली मिर्च का उत्पादन

काली मिर्च के फसलों की औसतन ऊंचाई 40 फीट होती है। किसी भी पेड़ पर काली मिर्च की झाड़ लगाई जा सकती है। एक से डेढ़ फीट के रेडियस में 60 से 70 बच्चे लगते हैं, जिससे 500 ग्राम तक काली मिर्च का उत्पादन होता है। 40 फीट की झाड़ से लगभग 20 किलोग्राम काली मिर्च का उत्पादन हो सकता है। जिससे 10000 रुपए तक की आमदनी मात्र 1000 रुपयों से की जा सकती है। – know about pepper farming as Chhattisgarh farmers are growing pepper in their land

पौधों के लिए भी सहायक है काली मिर्च

मां दंतेश्वरी हर्बल फार्म के मालिक अनुराग त्रिपाठी के अनुसार ऑस्ट्रेलियन टीक के 700 पदों पर काली मिर्च की झाड़ लगाई गई है। उनके अनुसार पेड़ों को बचाने के लिए काली मिर्च का पौधा बहुत लाभदायक साबित होता है। यूकेलिप्टस के अलावा अन्य पेड़ पौधों पर भी काली मिर्च की झाड़ लगाई जा सकती है। काली मिर्च की पत्तियां आयताकार होती हैं। इन पत्तियों की लंबाई 12 से 18 सेंटीमीटर और चौड़ाई 5 से 10 सेंटीमीटर तक होती है। इनके पौधों पर सफेद रंग के फूल खिलते हैं।

काली मिर्च का प्रयोग स्वाद बढ़ाने में भी किया जाता है। अमरूद के फल को काली मिर्च के साथ खाने से सर्दी खांसी में राहत मिलती है। हालांकि अमरूद में विटामिन सी की अधिक मात्रा पाई जाती है इसलिए पहले अपने स्वास्थ को ध्यान देकर तब ही खाएं। उसके साथ मसालों में भी काली मिर्च का प्रयोग किया जाता है।

Amit Kumar
Coming from Vaishali Bihar, Amit works to bring nominal changes in rural background of state. He is pursuing graduation in social work and simentenusly puts his generous effort to identify potential positivity in surroundings.

Related Articles

Stay Connected

0FansLike
- Advertisement -

Latest Articles