Tuesday, October 4, 2022

Buy now

मिट्टी की बनी एक ऐसी AC जिसमें न बिजली की ज़रूरत और ना ही पैसे का खर्च, जानिए इसकी खसियत

मिट्टी का AC यह सुनते ही अचंभा होती है मगर यह सच है। अब आप सब यही सोच रहे होंगे कि आज कल के इस मॉडर्न जिंदगी में जहा घरों को ठंडा रखने के लिए टन टन भर के AC घरों को ठंडा रखने के लिए लग जाते है, वहां पे मिट्टी की क्या सामर्थ्य है। लेकिन जो लोग अपने पर्यावरण से प्यार करते है, जिन्हें कार्बन कम और पैसा ज्यादा खर्च न करके कूलिंग का शौक है वो इसे लगा सकते है।

मिट्टी के बारे में तो हम सभी यह जानते ही है कि यह एक कुदरती ठंडाई देने वाला स्त्रोत है। ठीक इसी प्रकार के तकनीक को मिट्टी के इस AC में अपनाई गई है। मिट्टी से बनी इस AC को टेकाकोटा कूलर नाम दिया गया है जिसको बनाने के लिए टेराकोटा मिट्टी का उपयोग किया गया है। इस AC को बीहाइव AC कहा जाता है, क्योंकि यह देखने में बिल्कुल मधुमक्खी की छते की तरह है।

AC Made by Clay

मिट्टी से AC बनाने का आइडिया कैसे आया

वर्षो से मिट्टी पे काम करते आ रहे दिल्ली के आर्किटेक्ट मनीष सिरिपुरापू, जिन्होंने वर्ष 2015 में सबसे पहले मिट्टी AC का निर्माण किया। जब वे दिल्ली के एक फैक्ट्री में गए जहां उन्होंने देखा कि सारे मजदूर भरी गर्मी में काम कर रहे है तो उन्हें मिट्टी की AC बनाने कि सूझी। उस फैक्ट्री में गर्मी इतनी अधिक थी कि वो और उनके साथी 10 मिनट भी वो गर्मी बरदास नहीं कर पाए। मजदूरों इतनी समस्या में दिखते हुए उन्होंने टेराकोटा AC पर काम करना शुरू कर दिया।

यह भी पढ़ें:-जन्म होते ही लोगों ने कहा- फेक दो, नेत्रहीन होते हुए भी अपनी मेहनत के दम पर सैकड़ों करोड़ का बिजनेस खड़ा कर लिए: Srikanth Bolla

यह AC कैसे कार्य करता है

मिट्टी के घड़े का इस्तेमाल हमलोग गर्मी के मौसम में पानी को ठंडा करने के लिए सदियों से करते आ रहे है। फिर मनिष और उनके जो साथी थे वे सोचे कि जब मिट्टी से बना घड़ा पानी को ठंडा रख सकता है तो हवा को क्यों नहीं? इसी बात के आधार पर वो और उनकी टीम मिट्टी की AC बनाने के कार्य में आगे की ओर बढ़ी और उन्होंने सफलता भी हासिल की।

AC Made by clay

सबसे पहले इसमें टेराकोटा ट्यूब अर्थात मिट्टी की जो पाईप होती है उसपे पानी को डाला जाता है। अगर आप चाहते है तो आप इसपर मोटर से भी पानी को डाल सकते हैं।ट्यूब के निचे एक बड़ा सा टैंक होता है उसी में ये पानी स्टोर होता है फिर उसके बाद उसी पानी को ट्यूब पर डाला जाता है।

यह तापमान को भी कम करने में मदद करता है

सिरिपूरापू के हिसाब से मिट्टी से बने AC का उपयोग आगे चलकर बड़े- बड़े बिल्डिंग्स में भी किया जाएगा। ये जो AC है वो हमारे घरों में आने वाले हिट को भी रोकता है। एक ऐसी फैक्ट्री में जहां डीजल की अधिक खपत के कारण तापमान बढ़ जाता था वहां पे इस मिट्टी से बने AC को सबसे पहले लगाया गया था। मिट्टी की AC ऐसे में टेंपरेचर को कम करने में मदद करता है।

वीडियो यहाँ देखें:-👇👇

7 डिग्री कम करता है मौजूदा तापमान को

मॉडर्न AC हमारे रूम को तो ठंडा रखते है लेकिन हमारे वातावरण को गर्म करते है, जिसकी वजह से पर्यावरण को बहुत ज्यादा नुकसान पहुंचता है। परन्तु मिट्टी से बने AC के साथ ऐसा कुछ नहीं होता है। मिट्टी का ये AC 6 se 7 डिग्री मौजूदा तापमान को कम करता है।

पर्यावरण संरक्षण की दिशा में और बिजली की बचत करने में मिट्टी का AC बहुत बढ़िया विकल्प हो सकता है।

Related Articles

Stay Connected

0FansLike
- Advertisement -

Latest Articles