Wednesday, October 5, 2022

Buy now

बिहारी लड़के ने बना दिया पॉकेट AC डिवाइस, जो बर्फीली इलाकों में सेना को राहत वाली गर्मी देगा: जानिए इसकी खूबियां

भारत में प्रतिभा की कमी नहीं है। हमेशा से यहां के युवा कुछ नया आविष्कार कर पूरे दुनिया मे भारत का नाम रौशन करते आये है। आज हम बात करेंगे इन्ही युवाओं में से एक है शख्स की जिन्होंने अपने देश की सेना के लिए एक पावर बैंक जैसा एक छोटा सा डिवाइस बनाया है, जिसे पॉकेट (pocket device) में रखकर जवान अपनी ड्यूटी निभा सकते है। यह डिवाइस उन्हें गर्मी में ठंड का तथा ठंडी में गर्म होने का एहसास दिलाएगा।

कौन है वह शख्स ?

हम बात कर रहे हैं, बिहार (Bihar) राज्य के बेतिया (Bettiah) से 5 किलोमीटर दूर नौतन प्रखंड के धूमनगर पंचायत के धुसवा के रहने वाले संजीत रंजन (Sanjeet Ranjan) की। उनके पिता का नाम राजकुमार शर्मा (Rajkumar Sharma) है। सेना के लिए पॉकेट डिवाइस निर्माण करने के बाद संजीत अपने गाँव के साथ ही साथ पूरे भारत में चर्चा का विषय बने हैं। ―Bihar’s Lal Sanjeet Ranjan made a pocket device for the army, which will make you feel cool in summer and warm in cold.

पॉकेट AC (pocket device) के आविष्कार से हैं चर्चे में

संजीत (Sanjeet Ranjan)आजकल भारतीय सेना के लिए एक ऐसे डिवाइस के निर्माण को लेकर खास चर्चे में है, जो जवानों को गर्मी में ठंडक तथा ठंडी में गर्म होने का एहसास करा सकता है। उनके द्वारा निर्मित इस खास AC डिवाइस को पॉकेट में रख कर जवान अपना काम कर सकते हैं। यह डिवाइस एयर कंडीशनर डिवाइस है जो की ठंडी में गर्मी और गर्मी में ठंडी का एहसास दिलाती है। सबसे अहम बात यह है कि इस डिवाइस का आकार एक पावर बैंक के समान है। इसमें एक बैटरी है जिसे 2 साल में एक बार बदला जाता है। इसमें एक एसी, हीटर, पाइप और एक सर्किट भी लगाया गया है।

पूरे दिन काम करने में है सक्षम

इस खास एसी डिवाइस (pocket device)में लगी बैटरी की क्षमता 24 घंटे तक काम करने की है। यह एक तरह से पाॅकेट डिवाइस है जो कि बहुत छोटा है और इसे आसानी से पॉकेट में रखा जा सकता है। इसके सिस्टम से जुड़ी एक खास बात यह है कि इस डिवाइस में एक वायर जुड़ा है। इस वायर को शरीर के किसी भी अंग से स्पर्श कराना होता है। इसके बाद गर्म-ठंडा का स्विच ऑन करने पर यह डिवाइस 0 डिग्री तापमान में भी शरीर को गर्म और भीषण गर्मी में शरीर को बिल्कुल ठंडा रखता है। ―Bihar’s Lal made a pocket device for the army.

रेलवे हादसे को रोकने के लिए किया अलार्म का निर्माण

खास बात यह है कि इस एयर कंडीशनर वाले छोटे डिवाइस का निर्माणकर्ता संजीत रंजन (Sanjeet Ranjan) ने ऐसे यंत्रो को पहली बार नहीं बनाया है। इससे पहले उन्होंनें रेलवे पटरियों के टूटते ही अलार्म बजने का यंत्र, मोबाइल से बिजली कंट्रोल, हेपटाइज का निर्माण भी किया हैं। संजीत ने बिजली बचाने के लिए एक ऐसे डिवाइस का निर्माण किया है, जो आपके बिजली बिल की बचत कर सकता है। ―Bihar’s Lal made a pocket device for the army.

रेलवे डिवाइस (अलार्म) के लिए रेलवे मंत्रालय के तरफ से जवाब का इंतजार

संजीत ने रेलवे दुर्घटना को ध्यान में रखते हुए एक रेल डिवाइस भी बनाया है। इस रेलवे डिवाइस की यह खासियत है कि अगर इस डिवाइस को दो स्टेशनों के बीच लगाने के बाद अगर रेल की पटरी टूटी हो तो अलार्म तब तक बजता रहेगा, जब तक पटरी को फिर से जोड़ा नहीं जाता है। रेल पटरी में दरार पड़ने पर भी यह अलार्म बजने लगता है। अपने इस खास डिवाइस के बारे में बताते हुए संजीत बताते हैं कि, उन्होंने रेल मंत्रालय को इस अलार्म डिवाइस के बारे में लेटर के माध्यम जानकारी पत्र लिखकर दी है लेकिन रेल मंत्रालय की तरफ से अभी तक कोई जवाब नहीं आया है। संजीत के अनुसार उनके द्वारा बनाया गया डिवाइस रेलवे दुर्घटना को रोकने के लिए मददगार हो सकता है।

बिजली खपत कम करने के लिए भी बनाया डिवाइस

अपने दिमाग से सदा कुछ नया करने वाले संजीत (Sanjeet Ranjan) ने बताया कि, आप इस डिवाइस को मोबाइल के ब्लू टूथ से कनेक्ट कर सकते हैं। घर के बिजली खपत कम करने के घर से बाहर निकलते ही आपके कमरे का बिजली गुल हो जाएगी। बिजली बिल कम करने वाले इस डिवाइस के बारे में बात करते हुए संजीत बताते कि, इस डिवाइस के सहारे कमरे से बाहर निकलने पर आपके रूम का पंखा, बल्ब, टीवी अपने आप बंद हो जाएगा, जिससे बिजली की बर्बादी को रोकी जा सकती है। ऐसे ही बिजली के खपत को कम करके ज्यादा बिजली बिल से कुछ हद तक निजात मिल सकता है।

निधि भारती
निधि बिहार की रहने वाली हैं, जो अपनी पढ़ाई पूरी करने के बाद अभी बतौर शिक्षिका काम करती हैं। शिक्षा के क्षेत्र में कार्य करने के साथ ही निधि को लिखने का शौक है, और वह समाजिक मुद्दों पर अपनी विचार लिखती हैं।

Related Articles

Stay Connected

0FansLike
- Advertisement -

Latest Articles