Thursday, September 29, 2022

Buy now

प्रेरणा: 10वीं पास सिक्योरिटी गार्ड अब्दुल अलीम ने बनाया ऐप, 12 घंटे की ड्यूटी के बाद सीखते थे कोडिंग

अगर किसी इंसान ने दृढ़ निश्चय कर लिया तो वह किसी भी हालात में अपने लक्ष्य को हासिल करके ही रहता है। अगर शिक्षित होने की चाह मन में हो तो आप को कोई नहीं रोक सकता।इन सभी बातों को जीवन में सच साबित करते हैं जोहो (ZOHO) में सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट इंजीनियर के पोस्ट पर काम कर रहे अब्दुल अलीम। (Software development engineer Abdul Alim)

1000 रुपए से शुरू किया सफर

वर्ष 2013 में अब्दुल ने अपना घर छोड़ दिया था उस वक्त उनके पास मात्र ₹1000 थे। अब्दुल ने सिर्फ दसवीं कक्षा तक की शिक्षा प्राप्त करने के बाद काम करने का फैसला कर लिया। अब्दुल को एक कंपनी में सुरक्षा डेस्क पर नौकरी मिल गई।

मेहनत ने बदल दी किस्मत

एक दिन कंपनी के एक वरिष्ठ कर्मचारी ने उनके पास आकर बोला कि, ” मुझे तुम्हारे आंखों में बहुत कुछ दिखाई देता है”। इसके बाद उन्होंने अलीम से उनके कंप्यूटर के ज्ञान और पढ़ाई के बारे में पूछा जिसके जवाब में अलीम ने कहा कि उन्होंने स्कूल में थोड़ा-बहुत HTML सीखा था।

10 वीं पास अलीम ने बनाया ऐप, आज लोगों के दे रहें रोजगार

अलीम हमेशा से ही अधिक जानने के लिए उत्सुक रहते थे तो वरिष्ठ कर्मचारी ने उन्हें सिखाने का फैसला किया। अलीम सुरक्षा गार्ड के रूप में अपनी 12 घंटे की शिफ्ट पूरी करने के बाद हर दिन उत्सर्जन के पास जाते थे और कोडिंग सीखते थे। लगभग 8 महीनों की कड़ी मेहनत के बाद अलीम ने एक ऐप विकसित किया। (Abdul Alim developed app) ऐप कर्मचारियों को बेहद पसंद आया और प्रबंधक ने प्रभावित होकर अलीम के साथ एक साक्षात्कार किया। उन्होंने साक्षात्कार को मंजूरी दे दी और जोहो कॉरपोरेशन में 8 साल तक रहे और बहुत कुछ सीखा और आज एक सफल इंसान भी है।

Related Articles

Stay Connected

0FansLike
- Advertisement -

Latest Articles