Thursday, September 29, 2022

Buy now

दिहाड़ी मजदूरी करने वाले का बेटा बना इसरो में साइंटिस्ट, एपीजे अब्दुल कलाम को मानते हैं अपना प्रेरणास्रोत

सफलता की कहानियों की शुरुआत आसान नहीं होती है। सफलता के रास्ते में इंसान को कोई मुश्किलों का सामना करना पड़ता है लेकिन इन मुश्किलों के साथ जो संघर्ष करता है, वही सफल हो पाता है। महाराष्ट्र के रहने वाले सोमनाथ नंदू माली की जिंदगी भी संघर्ष से बड़ी है।

सोमनाथ माली

महाराष्ट्र के शोलापुर जिले के सरकोली गांव के रहने वाले सोमनाथ माली के संघर्ष और मेहनत की कहानी सब को प्रेरित करने वाली है। उन्होंने अपनी प्रारंभिक शिक्षा जिला परिषद प्राइमरी स्कूल से पूरी की और ग्यारहवीं की पढ़ाई शास्त्र शाखा से पंढरपुर स्थित केबीपी कॉलेज से की।- somnath nandu mali joins isro as a scientist

माता पिता हैं मजदूर

सोमनाथ माली के शुरुआत से लेकर इसरो तक का संघर्ष काफी कठिन परिस्थितियों से होकर गुजरा। उनकी पढ़ाई का खर्च उठाने के लिए उनके माता-पिता ने खेतों में मजदूरी की। उनके माता-पिता की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं थी इसलिए वे पढ़ाई का खर्च नहीं उठा सकते थे। आर्थिक स्थिति को दूर करने के लिए उनके माता-पिता और भाई ने खेतों में मजदूरी करके पढ़ाई के लिए पैसे जुगाड़ किए।- somnath nandu mali joins isro as a scientist

आईआईटी से पूरी की इंजीनियरिंग

सोमनाथ 12वीं कक्षा में 81 फ़ीसदी अंको से उत्तीर्ण होने के बाद बीटेक करने के लिए मुंबई गए। वहां से उन्होंने आईआईटी दिल्ली के लिए मैकेनिकल डिजाइनर के रूप में चुना गया। उन्होंने गेट परीक्षा में ऑल इंडिया रैंक हासिल किया। उसके बाद उन्होंने दिल्ली आईआईटी से एमटेक भी किया। कुछ दिनों तक इंफोसिस में नौकरी करने के बाद नवंबर 2019 में इसरो में वरिष्ठ वैज्ञानिक की वैकेंसी के लिए आवेदन किया। उन्हें वहां सफलता मिली और फुल शॉप फॉर इसरो में सीनियर वैज्ञानिक के तौर पर चुने गए।- somnath nandu mali joins isro as a scientist

डॉ एपीजे अब्दुल कलाम से हुए प्रेरित

सोमनाथ भारत के मिसाइल मैन के नाम से जाने जाने वाले डॉ एपीजे अब्दुल कलाम से प्रेरित थे। उन्होंने उनकी जीवनी पढ़कर प्रेरणा पाई है। इसरो के चंद्रयान 3, अंतरिक्ष स्टेशन और खास खूबियों वाले रॉकेट जैसे प्रोजेक्ट्स में शामिल होने की इच्छा है।- somnath nandu mali joins isro as a scientist

विमान इंजन के डिजाइन पर कर चुके हैं काम

आईआईटी दिल्ली से मैकेनिकल डिजाइनर में दाखिला लेने के बाद आईआईटी में ही सोमनाथ को विमान के इंजन के डिजाइन पर काम करने का मौका मिला। इस मौके का उन्होंने अच्छे से इस्तेमाल किया और बाद में वे एयरक्राफ्ट इंजन डिजाइन के एक्सपर्ट हो गए।- somnath nandu mali joins isro as a scientist

Amit Kumar
Coming from Vaishali Bihar, Amit works to bring nominal changes in rural background of state. He is pursuing graduation in social work and simentenusly puts his generous effort to identify potential positivity in surroundings.

Related Articles

Stay Connected

0FansLike
- Advertisement -

Latest Articles