Thursday, September 29, 2022

Buy now

3 बार असफलता मिलने के बाद भी हार नहीं मानी, चौथे प्रयास में UPSC क्लियर कर बन गई IAS अधिकारी: Devyani

सच ही कहा है किसी ने जिसके हौसले बुलंद हो वो किसी भी परिस्थिति का सामना कर अपनी मंजिल को हासिल कर ही लेते हैं। लेकिन हमने अक्सर ऐसे लोगो को भी देखा है जो परिस्थिति से डर कर उसका सामना नहीं करते और अपने सपने को चूर कर देते हैं, लेकिन कही लोग ऐसे भी होते हैं जो अपनी मंजिल को पाने के लिए हर वो कोशिश करते है जो रहा उनके लिए बिलकुल भी आसन नहीं होती हैं। हमारे भारत में अक्सर बहुत से लोग आईएएस बनने का सपना देखते हैं आप सब जानते है की हमारे भारत में यूपीएससी की परीक्षा को सबसे कठिन परीक्षा में से एक माना जाता है, जिसे पास करना काफी मुश्किल है इस परीक्षा को वही लोग पास कर सकते है जो कड़ी मेहनत कर और दिन रात एक कर उस परीक्षा को पास करने के लिए मेहनत करते है।

आज हम आपको एक ऐसी ही युवती की कहानी बताएंगे। जिसने कड़ी मेहनत कर अपनी 3 बार असफलता के बाद भी उसने अपने आप को पीछे नहीं हटने दिया और अंत में चौथी पर परीक्षा को पास कर यूपीएससी में सफलता हासिल की और अपने माता पिता का नाम रोशन किया।

कौन है वो युवती…

आज हम जिसकी बात कर रहे है उसका नाम है देवयानी (Devyani), जो हरियाणा (Haryana), के महेंद्रगढ़ (Mahendargarh), की रहने वाली है। इनके पिता का नाम विनय सिंह (Vinay singh), है जो सिविल सेवा में नौकरी करते है। इनके पढ़ाई की बात की जाएं तो, इन्होंने अपनी शिक्षा चंडीगढ़ एसएच सीनियर सेकेंडरी से की है वे स्कॉल शिक्षा प्राप्त कर लेने के बाद उन्होंने साल 2014 में गोवा के बिट्स पिलानी से इलेक्ट्रॉनिक्स और इंस्ट्रूमेंशन से इंजीनियरिंग की पढ़ाई की। पढ़ाई पूरी करने के बाद उन्होंने जॉब न करते हुए, अपने पिता की तरह सिविल सेवा में नौकरी करना चाह। जिसे देख उनका यूपीएससी (UPSC) की परीक्षा पास कर आईएएस (IAS), बनने का ठाना। अब उन्होंने अपनी लाइफ में आईएएस बनने का सपना बना लिया था जिसके लिए अब उन्हे काफी मेहनत कर मंजिल तक पहुंचना था।

Devyani cracked UPSC after three attempts and became an IAS officer
देवयानी आईएएस अधिकारी

पढ़ाई को नही समझा कभी टेंशन…

यह बात सच है की अगर हम किसी भी काम को टेंशन के साथ करे तो वो काम कभी नही होता और अक्सर आज कल के बच्चे पढ़ाई करते समय काफी टेंशन और बोझ लेकर उसे पढ़ते है लेकिन देवयानी जो यह जानते हुए भी की एक आईएएस बनने के लिए काफी कठिन परीक्षा देकर उसे पास करना होता है इस बारे में जानते हुए भी देवयानी अपनी पढ़ाई को कभी भी बोझ समझ कर नही पढ़ती। वह अपनी यूपीएससी की परीक्षा की तैयारी हफ्ते में दो दिन करती थी एक रविवार और शनिवार, लेकिन इन दो दिन देवयानी काफी लगन और मेहनत से अपनी पढ़ाई को पूरा करती थी। बिना किसी टेंशन और बोझ के वो अपनी पढ़ाई को बिलकुल अच्छे से पूरा कर परीक्षा की तैयारी करती थी।

यह भी पढ़ें:-नौकरानी बनकर घर आई लड़की को बेटी बनाकर घूम-धाम से कराई शादी, पटना के इस शख्स ने पेश की इंसानियत की मिशाल

नही मानी हार…

काफी मेहनत कर अब देवयानी ने अपनी मंजिल की और पहला कदम बढ़ाया, जिसमें अब वो अपनी पहली परीक्षा देने के लिए तैयार थी 2015 में उन्होंने पहली परीक्षा अटेम्प्ट की लेकिन उन्हे उसने कोई सफलता हाथ नहीं लगी। परंतु देवयानी ने है नही मानी और दूसरे अटेम्प्ट की और अपना कदम बढ़ाया लेकिन इसने भी इन्हे कही सफलता हाथ नहीं लगी, ऐसे ही इन्होंने तीसरे बार यूपीएससी की परीक्षा दी लेकिन फिर भी उन्हे असफलता ही हासिल हुई। तीन पर यूपीएससी की परीक्षा देने के बाद जब उन्हे आखिर में असफलता ही मिली जिसको देखते हुए उन्होंने अपने लक्ष्य से पीछे नहीं हटी। उनका सपना था की वो आईएएस बने । इस सपने को पूरा करने के लिए चौथी बार मेहनत कर यूपीएससी की परीक्षा दी। जिसने उन्हें सफलता हासिल हुई और अखिकार अपने सपने को हासिल भी किया।

मेहनत कर की सफलता हासिल….

तीन बार असफलता हासिल कर, कोई भी अपने सपने से पीछे हट जायेगा, लेकिन देवयानी जिन्होने हार ना मानते हुए काफी मेहनत की और मॉक टेस्ट की ओर ज्यादा ध्यान दिया। अपनी परीक्षा की पास करने के लिए उन्होंने हारोज न्यूज देखना शुरू किया वे न्यूज़पेपर की पढ़ना शुरू किया। और काफी मेहनत कर परीक्षा की पास किया और सफलता को हासिल किया।

Devyani cracked UPSC after three attempts and became an IAS officer
हफ्ते में मात्र 2 दिन करती थी पढ़ाई

पिता को देख चाह सिविल नौकरी…

जैसे की हमने आपको बताया की, देवयानी के पूरा सिविल सेवन मैं नौकरी करते है इससे देख उन्हे भी अपने पिता की तरह सिविल में नौकरी करनी थी जिसकी वजह से आज वो एक यूपीएससी को परीक्षा पास कर चुकी है और आज ऐसी मंजूर हासिल की जिसके बारे में हैं सपने में भी नी sich सकते ।

यह भी पढ़ें:-करोड़ों की घङियां, दर्जनों आलीशान बंग्ला, अरबों की कार, कुछ ऐसी है क्रिस्टियानो रोनाल्डो की लग्जरी लाइफ

प्रेरणा……

देवयानी जो आज काफी लोगो के लिए प्रेरणा बने है जिन्होने ये साबित किया असफलता के बाद एक न एक दिन सफलता जरूर हासिल होती है देवयानी ने भी साबित किया की किसी भी परिस्थिति से डर कर हार नही माननी चाहिए और कैसी भी परिस्थिति क्यों न हो हर मुश्किल का सामना कर उससे लड़ कर सफलता हासिल करनी चाहिए

Related Articles

Stay Connected

0FansLike
- Advertisement -

Latest Articles