Tuesday, October 4, 2022

Buy now

नौकरी के साथ ही स्टडी कर दूसरे प्रयास में बनी IAS, डॉ नेहा से जानिए UPSC की तैयारी के टिप्स

हर साल होने वाले यूपीएससी एग्जाम में सफलता प्राप्त करने वालें अभ्यर्थियों में एक अलग ही कॉन्फिडेंस देखने को मिलती है। हर अभ्यर्थी के पास इस परीक्षा की तैयारी को लेकर अलग-अलग राय होती है। आज हम आपको एक ऐसे आईएएस अधिकारी की कहानी से रूबरू कराने वालें हैं, जिन्होंने डॉक्टर की प्रैक्टिस के साथ ही यूपीएससी की तैयारी किया और उसमे सफलता भी प्राप्त की।

नौकरी के साथ क्लीयर की UPSC

हम आपको आईएएस नेहा जैन (IAS Neha Jain) की कहानी बता रहें हैं। जिन्होंने नौकरी के साथ और सेल्फ स्टडी के बदौलत यूपीएससी के एग्जाम को क्लियर किया। उन्होंने सबसे पहले डेंटिस्ट के परीक्षा में सफलता हासिल की और फिर अपनी प्रैक्टिस के साथ यूपीएससी की तैयारी भी करनी शुरू की।

बता दें कि, नौकरी के दौरान भी वे समय निकाल कर सेल्फ स्टडी किया करती थी, अंततः अपने मेहनत और लगन के बदौलत यूपीएससी के एग्जाम में सफलता भी हासिल की और अपने आईएएस बनाने के सपने को साकार किया।

दूसरे प्रयास में मिली सफलता

नेहा (IAS Neha Jain) को पहले प्रयास के दौरान यूपीएससी में सफलता नहीं मिली लेकिन फिर उन्होंने हार न मानते हुए अपनी पुरानी सभी गलतियों को सुधारा और दूसरे बार भी यूपीएससी एग्जाम में बैठने का फैंसला किया। दूसरे प्रयास के दौरान अपने मेहनत और लगन के बदौलत उन्होंने सफलता भी प्राप्त किया।

उन्होंने बताया कि, “यूपीएससी की तैयारी करने से पहले मैंने UPSC की तैयारी कर रहे दोस्तों से कोचिंग और वेबसाइट के बारे में सलाह लिया और सबसे पहले मैने सब्जेक्ट को सिलेक्ट किया फिर तैयारी करना शुरू किया। तैयारी के दौरान मैंने इंटरनेट का भी सहारा लिया तथा निबंध लेखन, जनरल स्टडीज और ऑप्शनल सब्जेक्ट पर ज्यादा ध्यान दिया।”

बता दें कि, उनके माता-पिता दोनो पेशे से वकील है, जिस वजह से उन्होंने यूपीएससी की तैयारी के दौरान ऑप्शनल सब्जेक्ट के रूप में लॉ सब्जेक्ट का चयन किया था, और इसके लिए कोचिंग भी ज्वाइन किया था। बाकी सभी सब्जेक्ट की तैयारी उन्होंने सेल्फ स्टडी करके किया था।

यूपीएससी की तैयारी से पहलें मटेरियल को कर लें इकट्ठा

नेहा ने बताया कि, यूपीएससी एग्जाम की तैयारी के पहले हमें अपने तैयारी की सारी मटेरियल के तैयार कर लेना चाहिए ताकि बाद में कोई परेशानी न हो। किस कोचिंग, वेबसाइट और किताब से पढ़ाई करनी है, ये सब पहले ही तय होना चाहिए। उन्होंने बताया कि, तैयारी के दौरान लोगों को बहकावे में आकर नेगेटिव विचारों को अपने दिमाग में नहीं लाना चाहिए बल्कि खुद पर विश्वास रखकर पूरी शिद्दत के साथ तैयारी करनी चाहिए।

मॉक टेस्ट है जरूरी

नेहा (IAS Neha Jain) के अनुसार, प्रीलिम्स और मेंस दोनों ही एग्जाम के पहले मॉक टेस्ट जरूर देना चाहिए और साथ ही मेंस एग्जाम के पहले आंसर राइटिंग की प्रैक्टिस जरूर करनी चाहिए।

उन्होंने बताया कि, जिस कोचिंग संस्थान में वे आंसर राइटिंग की प्रैक्टिस कर रही थी, वहां पहले तो उनके आंसर्स को बहुत खराब कैटेगरी में रखा जाता था। जिस वजह से उन्होंने एक महीने इसपे काफी मेहनत किया, तब उसमे काफी इम्प्रूव आया और बाद में उसी कोचिंग ने उनके आंसर्स को श्रेष्ठ आंसर्स की श्रेणी में रखा गया।

कैंडिडेट्स को दिया सलाह

नेहा (IAS Neha Jain) ने यूपीएससी की तैयारी करने वालें कैंडिडेट्स को सलाह दिया है कि, ज्यादा किताबों से तैयारी करने के बजाय कुछ लिमिटेड किताबों को पढ़ें और उन्हीं को चार से पांच बार रिविजन करें। जब आपकी तैयारी पूरी हो जाए तो ऑनलाइन मार्क्स टेस्ट जरूर दें।

जब उनसे एक इंटरव्यू के दौरान ये पूछा गया कि, नौकरी के दौरान यूपीएससी की तैयारी उन्होंने कैसे किया तो उन्होंने बताया कि, नौकरी के बाद उन्हें 4-5 घंटे का समय मिलता था, इसी समय में वे पूरे लगन के साथ पढ़ाई करती थीं। इसके अलावें जब वीकेंड की छुट्टियां मिलती तब वे 8-9 घंटे पूरे लगन और शिद्दत के साथ सेल्फ स्टडी किया करती थीं। सुबह में फ्रेश माइंड के साथ कठिन सवालों को हल किया करती थीं।

उनका (IAS Neha Jain) मानना है कि, अगर किसी भी मंजिल की प्राप्ति हेतु मेहनत और पूरे लगन के साथ प्रयास किया जाए तो मंजिल प्राप्त करने में ज्यादा समय नहीं लगती। लेकिन इस दौरान इंसान को खुद पर विश्वास भी होना चाहिए।

निधि भारती
निधि बिहार की रहने वाली हैं, जो अपनी पढ़ाई पूरी करने के बाद अभी बतौर शिक्षिका काम करती हैं। शिक्षा के क्षेत्र में कार्य करने के साथ ही निधि को लिखने का शौक है, और वह समाजिक मुद्दों पर अपनी विचार लिखती हैं।

Related Articles

Stay Connected

0FansLike
- Advertisement -

Latest Articles