Tuesday, October 4, 2022

Buy now

इंटरनेट से पढ़ाई की और 4 बार फेल हुई, 5वी बार मे UPSC निकाल बनी IAS अधिकारी: Sanjita Mohapatra

यूपीएससी के तैयारी करने वाले ज्यादातर कैंडिडेट्स का सपना होता है कि, वे IAS अफसर बने लेकिन UPSC की परीक्षा देश के सबसे कठिन परीक्षाओं में से एक है इसलिए उसमे सफलता हासिल करना सबके बस की बात नहीं होती। अगर सफलता मिल भी जाती है तो आईएएस बनना सबके नसीब में नहीं होता।

आज हम बात करेंगे, एक ऐसी महिला की जिन्होनें शादी के बाद बिना किसी कोचिंग क्लास ज्वाइन किए ही UPSC एग्ज़ाम पास करके IAS बनने का अपने सपने को साकार किया है।

तो आइए जानते हैं उस IAS महिला के बारे में सभी जरुरी जानकारियां -:

कौन है वह महिला ?

हम आईएएस अधिकारी संजिता मोहपात्रा (IAS Sanjita Mohapatra) की बात कर रहे हैं, जो मूल रूप से ओडिशा (Odisha) के राउलकेला की रहने वाली हैं। उन्होंने अपनी 12 वीं तक की पढ़ाई ओडिशा के राउलकेला से हीं पूरी की और उसके बाद उनका दाखिला IIT कानपुर में हुआ और वहां से उन्होंने मैकेनिकल इंजीनियरिंग से बीटेक की डिग्री हासिल किया। —Success story of IAS Sanjita Mohapatra From Odisha.

इंजीनियरिंग के बाद की यूपीएससी की तैयारी

बचपन से पढ़ने में अव्वल रही संजीता ने कभी फेल शब्द का सामना नहीं किया था क्योंकि वे हमेशा सिर्फ पास ही नहीं बल्क‍ि अच्छे नंबरों से अव्वल रहती थी। वे बचपन से ही आईएएस बनने का ख्वाब देखती थी और यही कारण है कि उन्होंने इंजीनियरिंग के बाद सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी करने का मन बनाया।

इंटरनेट के माध्यम से की तैयारी

संजिता मोहपात्रा (IAS Sanjita Mohapatra) ने यूपीएससी की तैयारी के बारे में बात करते हुए बताया कि, यूपीएससी के तैयारी के दौरान उन्हें ठीक से गाइडेंस नहीं मिल पा रही थी, इसलिए उन्होंने इंटरनेट की मदद लेकर तैयारी किया। इसके अलावा संजिता ने सबसे ज्यादा NCERT किताबों पर फोकस किया और साथ ही रोजाना न्यूजपेपर पढ़ती थी।

संजीता ने अपने सारे विषयों की तैयारी सेल्फ स्टडी कर पूरी की थी लेकिन ऑप्शनल सब्जेक्ट सोशियोलॉजी के लिए उन्होंने कुछ दिन कोचिंग किया था।

तीन बार रही असफल

बिना किसी कोचिंग संस्थान ज्वाइन किए यूपीएससी की तैयारी करने वाली संजिता मोहपात्रा अपने पहले तीन प्रयास में असफल रहीं। इन प्रयासों के दौरान वे प्रीलिम्स परीक्षा तक नहीं पास कर पाईं थी।

बता दें कि, वे शुरुआती समय से हीं पढ़ने-लिखने मे काफी तेजतर्रार थी, इसी वजह से उन्होंने यूपीएससी की तैयारी के दौरान कोचिंग का सहारा नहीं लेने का मन बनाया था।

मिली सरकारी नौकरी

यूपीएससी एग्जाम में तीन बार असफल रहने के बाद वे दूसरे भी सरकारी प्रतियोगी परीक्षा में शामिल हुई तथा उसमे सफलता मिलने के बाद उन्होंने एक सरकारी नौकरी ज्वाइन कर ली लेकिन नौकरी के दौरान भी यूपीएससी की तैयारी को जारी रखा। हालांकि बाद में उन्हें लगा कि एक साथ नौकरी और यूपीएससी की तैयारी नहीं कर पाएंगी तो उन्होंने अपना नौकरी को छोड़ दिया।

घरवालों ने कराई शादी

यूपीएससी की तैयारी करने के दौरान ही संजिता के घरवालों ने शादी के लिए दबाव बनाए, जिस वजह से वे शादी के लिए तैयार हो गई और शादी भी कर लिया। हालांकि शादी के बाद ससुराल वालों ने यूपीएससी की तैयारी करने में सहयोग किया और वे चौथी बार यूपीएससी एग्जाम में बैठी। इस बार उन्होंने प्रीलिम्स क्लियर तो क्लियर कर लिया लेकिन मेन्स में सफलता हाथ नहीं लगी। —Success story of IAS Sanjita Mohapatra From Odisha.

पांचवे प्रयास में हुई सफल

सेल्फ स्टडी और इंटरनेट के माध्यम से यूपीएससी की तैयारी कर रही संजिता मोहपात्रा (Sanjita Mohapatra) ने अपने चार प्रयासों में मिली हार के कारण पाँचवी प्रयास में मन लगा कर पढ़ाई की और अंततः सफलता हासिल की।

बता दें कि, उन्होंने अपने पाँचवे प्रयास के दौरान वर्ष 2019 में 10वीं रैंक के साथ एक बड़ी सफलता हासिल की। इस सफलता के साथ हीं साथ उन्होंने अपने आईएएस बनने का सपना भी साकार किया है।

लोगों के लिए बने हैं प्रेरणा

अपने मेहनत और संघर्ष के बदौलत अपने पाँचवे प्रयास में सफलता हासिल करने वाली संजिता मोहपात्रा (IAS Sanjita Mohapatra) आज के समय में हजारों लोगों के लिए प्रेरणा बनीं है। उन्होंने यह साबित कर दिया है कि बिना किसी कोचिंग क्लास के ही सेल्फ स्टडी से भी यूपीएससी की तैयारी में सफलता पाई जा सकती है। कभी हार नहीं मानने और हिम्मत के कारण उन्होंने सफलता हासिल करते हुए एक प्रेरक के रुप में अपनी पहचान बनायी है।

निधि भारती
निधि बिहार की रहने वाली हैं, जो अपनी पढ़ाई पूरी करने के बाद अभी बतौर शिक्षिका काम करती हैं। शिक्षा के क्षेत्र में कार्य करने के साथ ही निधि को लिखने का शौक है, और वह समाजिक मुद्दों पर अपनी विचार लिखती हैं।

Related Articles

Stay Connected

0FansLike
- Advertisement -

Latest Articles