Wednesday, November 30, 2022

Buy now

भारत में चलने वाले बुलेट ट्रेन परियोजना की पूरी अपडेट जानिए, कब तक दौड़ेगी पहली बुलेट ट्रेन

भारत एक विकासशील देश है जो पहले के मुकाबले आज काफी आगे बढ़ गया है। जब लोग अपने देश के बाहर घूमने जाते हैं या फिर टेलीविजन के माध्यम से देखते थे कि विदेशों में कई तरह की तकनीक उपलब्ध हैं जो घंटों का काम मिनटों में कर लेता है। आज वह सब सारी सुविधा अपने देश में भी देखने को मिल रही है। आज हमारे देश का रुतबा पहले से कई गुणा बढ़ गया है।

आज पूरी दुनिया भारत से हाथ मिलाना चाहती है। हमारे देश में लोगों का सपना था कि भारत में भी बुलेट ट्रेन चले और यह सपना अब देश के लोगों को साकार होने वाला है। भारत में पहली बुलेट ट्रेन मुंबई से अहमदाबाद के बीच दौड़ेगी। आईए जानते हैं भारत में पहली बुलेट ट्रेन की योजना के बारे में।

मुंबई से अहमदाबाद के बीच पहली बुलेट ट्रेन

भारत के लोगों के लिए काफी खास और अहम ऑफर केंद्र सरकार ने जारी कर दिया है यह ऑफर जो कभी भारत के लोग अपने देश में बुलेट ट्रेन चलने का सपना देखते थे वह अब साकार होने वाला है। भारत में पहली बुलेट ट्रेन जो मुंबई से अहमदाबाद के बीच दौड़ेगी बुलेट ट्रेन के चलाने का काम नेशनल हाई स्पीड रेल कॉरपोरेशन द्वारा किया जा रहा है। इसकी लंबाई 508 किलोमीटर की होगी। यह 320 किलोमीटर प्रति घंटा के रफ्तार से दौड़ेगी। आपको बता दें कि मुंबई से अहमदाबाद पहुंचने में मात्र 2 घंटे का समय लगेगा।

यह भी पढ़ें:-मूंगदाल और पालक से बना डिश स्वास्थ्य के लिए होता है बहुत लाभकारी, इस तरह बनाएं

फिलहाल बुलेट ट्रेन के रेल लाइन का निर्माण शुरु कर दिया गया है। यह ट्रेन 352 किलोमीटर गुजरात के नौ जिले और महाराष्ट्र के तीन जिले से होकर जाएगी। अभी आठ जिले में बुलेट ट्रेन के परियोजना पर काम शुरु हो गया है। इसमें 12 स्टेशन बनाए जा रहे हैं और इसमें लागत लगभग 1.08 लाख करोड रुपए लगेंगे। यह परियोजना भारत के लोगों के लिए काफी खास है। लोगों को लग रहा है कि जल्द से जल्द यह परियोजना बनकर तैयार हो जाए और बुलेट ट्रेन का आनंद उठा सकें।

21 किलोमीटर लंबी सुरंग से होकर गुजरती बुलेट ट्रेन

मुंबईजेडअहमदाबाद के बीच दौड़ने वाली बुलेट ट्रेन 21 किलोमीटर लंबी सुरंग बनाने की योजना है। इस 21 किलोमीटर सुरंग में 7 किलोमीटर सुरंग समुद्र के नीचे से बनाई जाएगी। समुद्र के नीचे से सुरंग बनाने का काम देश में पहली बार किया जा रहा है। यह सुरंग महाराष्ट्र में बांद्रा कुर्ला कॉन्प्लेक्स भूमिगत स्टेशन और शिल्फटा के बीच बनाया जा रहा है। इस सुरंग की लंबाई 7 किलोमीटर होगा इसके साथ-साथ इसी एक ही सुरंग में दोनों तरफ से ट्रेन आने जाने का रेल लाइन बिछाया जाएगा। इसके साथ-साथ सुरंग के आसपास 37 स्थानों पर उन 39 उपकरण कमरा भी बनाया जाएगा। भारत में समुद्री मार्ग सुरंग की परियोजना पहली बार की जा रही है जिसे देखने के लिए लोग काफी उत्सुक हैं।

बुलेट ट्रेन के लिए निकला टेंडर

मुंबई-अहमदाबाद के बीच डॉट नेपाली बुलेट ट्रेन का टेंडर निकल गया है। इसमें न्यू ऑस्ट्रियन टनलिंग मेथड (NATM) और (NHSRCF) द्वारा हाई स्पीड रेल कॉरिडोर के लिए टनल बोरिंग मशीन का इस्तेमाल करते हुए इस सुरंग को बनाने का टेंडर निकाला गया है।

यह भी पढ़ें:-नाराज मैडम को मनाते हुए बच्चे का वीडियो हुआ वायरल, बच्चे की मासूमियत देखकर लोग हुए मुग्ध

पृथ्वी तल से 114 किलोमीटर तक गहरा

इस सुरंग का निर्माण शिल्फटा के पास पारसिक पहाड़ी से किया जाएगा जहां इसकी गहराई पृथ्वी तल से 114 किलोमीटर नीचे है इस सुरंग को बनाने के लिए 13.1 मीटर व्यास के कटर हेड वाले (TBM) का उपयोग किया जाएगा इसमें तीन टनल बोरिंग मशीनों के इस्तेमाल से 16 किलोमीटर लंबी सुरंग तैयार किया जाएगा 5 किलोमीटर और टनल का निर्माण न्यू ऑस्ट्रियन टनलिंग विधि द्वारा किया जाएगा।

भारत में बुलेट ट्रेन दौड़ने का सपना सब देख रहे हैं। लोगों को लग रहा है कि कितना जल्द भारत में बुलेट ट्रेन चले और इस बुलेट ट्रेन का आनंद उठाएं केंद्र सरकार ने लोगों के सपने को साकार करने के लिए इस परियोजना पर तेजी से काम कर रही है।

Related Articles

Stay Connected

0FansLike
- Advertisement -

Latest Articles