Thursday, September 29, 2022

Buy now

वो 10 मन्दिर जहां महिलाओं के प्रवेश पर है रोक, जानिए इसके पीछे का रहस्य

हमारा देश भारत एक हिंदू राष्ट्र है। देश के हर कोने में कई संख्या में बड़े-बड़े मंदिर बने हुए हैं जिसमें हर साल लाखों की संख्या में भक्त घूमने के लिए जाते रहते हैं। लोग अपनी आस्था और धर्म के प्रति अपने आप को भगवान को समर्पित कर देते हैं। कहा जाता है कि हिंदू धर्म में नारी का स्थान बहुमूल्य होता है। जहां नारी की वास होती है वहां देवी-देवताओं का भी वास होता है। यह कथन बिल्कुल सत्य है परंतु देश में कुछ ऐसे मंदिर हैं जहां महिलाओं को जाने के लिए प्रतिबंध लगाया गया है। इन मंदिरों में महिलाएं पूजा तो क्या मंदिर के अंदर तक नहीं जा सकते हैं।

यह आज से नहीं तकरीबन कई सालों से चलता आ रहा है। आइए जानते हैं भारत के ऐसे कौन-कौन से मंदिर हैं जहां पर महिलाओं को जाने के लिए प्रतिबंध लगाया गया है और यह प्रतिबंध क्यों लगाया गया है इसके बारे में हम आपको इस लेख के जरिए बताएंगे। देश के ऐसे 10 मंदिर जहां पर महिलाओं को जाने के लिए प्रतिबंध लगाया गया है वह कौन कौन से मंदिर हैं।

  1. घटई देवी मंदिर (Ghatayi Devi Mandir, Maharashtra)

घटई देवी मंदिर यह महाराष्ट्र के सतारा में स्थित है। चारों तरफ हरे-भरे पेड़-पौधों से घिरा हुआ काफी खूबसूरत मन्दिर है। इस मन्दिर से चारों तरफ खूबसूरत नजारा दिखता है। परंतु इस मंदिर में महिलाओं को प्रवेश करना वर्जित माना जाता है। यह कई सालों से चलता आ रहा है। इसे पहले मंदिरों के आगे एक बोर्ड लगा हुआ था जिस पर लिखा था महिलाओं का प्रवेश वर्जित परंतु इस बोर्ड को हटा दिया गया। इस बोर्ड को हटने के बाद भी महिलाओं को प्रवेश नहीं दिया जाता है और यह परंपरा काफी समय से चलती आ रही है।

10 such temples of the country where women are banned from visiting
  1. मंगल चांडी मन्दिर (Mangal Chandi Mandir, Jharkhand)

यह मंदिर झारखंड के बोकारो में स्थित है। यह मंदिर मां मंगल चांडी के नाम से काफी मशहूर है। यह मंदिर बोकारो से लगभग 40 किलोमीटर दूर स्थित है। यह मंगल चांडी मंदिर माता की मंदिर है परंतु इस मंदिर में महिलाओं के जाने पर वर्जित है। अगर महिला इस मंदिर में पूजा करनी जाती हैं तो वह समय से लगभग 100 मीटर दूर पर ही खड़ी रहती है। और उस महिला की पूजा की थाली उनके साथ आए पुरुष उसे लेकर के मंदिर तक जाते हैं। अगर कोई महिला इस मंदिर तक पहुंच जाती है तो उस पर घोर विपदा आती है। इसलिए महिलाओं को इस मंदिर तक पहुंचने में रोका जाता है।

यह भी पढ़ें:-Viral Video: बेहद अनोखे अंदाज में यह शख्स बेच रहा है नमकीन, अब तेजी से वायरल हो रहा है वीडियो

10 such temples of the country where women are banned from visiting
  1. बिमला माता मंदिर (Bimla Mata Mandir, Odisha)

यह मंदिर उड़ीसा राज्य के पुरी शहर के जगन्नाथ मंदिर के परिसर में रोहिणी कुंड नामक एक पवित्र तालाब के बगल में स्थित है। यह मंदिर काफी प्राचीन मंदिर है। इसे विमला शक्तिपीठ कहा जाता है। यहां माता की शक्तिपीठ की पूजा की जाती है। यहां शरद ऋतु में दुर्गा पूजा का त्योहार काफी धूमधाम से मनाया जाता है। जो महालिया के साथ दिन पहले वाली अष्टमी से गुप्त नवरात्रि का पूजन किया जाता है। इसे 16 दिन चलने वाली शार्दी उत्सव कहा जाता है। कहा गया है कि नारी काली का अवतार होती है इसलिए जब यहां नवरात्रि की पूजा आरंभ होती है तो 16 दिनों तक महिलाओं को प्रवेश वर्जित किया जाता है।

10 such temples of the country where women are banned from visiting
  1. सबरीमाला श्री अयप्पा मन्दिर (Sabarimala Sri Ayappa Mandir, Kerala)

यह मंदिर केरल के पथनामथीट्टा नामक स्थान पर है। कहा जाता है कि इस मंदिर के जो देवता हैं अयप्पा वो ब्रह्मचारी है। जिसकी वजह से इस मंदिर में औरतों को जाना वर्जित माना जाता है। खास करके इस मंदिर में 10 वर्ष से लेकर के 50 वर्ष तक के आयु की महिलाओं को प्रवेश वर्जित है। इस मंदिर में महिलाओं को प्रवेश करने के लिए सुप्रीम कोर्ट में आदेश जारी किए थे परंतु फिर भी सुप्रीम कोर्ट के कहने के बाद भी इस मंदिर में महिलाओं को प्रवेश कर पाना वर्जित ही रहा और यह प्राचीन काल से यह प्रथा चलती आ रही है।

यह भी पढ़ें:-पीनट बटर ज्यादा खाने से शरीर मे हो सकते हैं बहुत नुकसान, जान लीजिए वजह और खाने की मात्रा

10 such temples of the country where women are banned from visiting
  1. कीर्तन घर, बरपेटा सत्र (Kirtan Ghar, Assam)

कीर्तन घर यह असम के बरपेटा में स्थित है। माना जाता है कि यह घर एक वैष्णव मठ है जहां पर महिलाओं को जाना पूर्ण रुप से वर्जित है। इस मठ में सिर्फ पुरुषों को जाने की अनुमति दी जाती है। भारत के पूर्व प्रधानमंत्री श्रीमती इंदिरा गांधी जब इस मठ में जाने लगी तो उन्हें भी इस मठ के अंदर जाने से रोका गया। यह परंपरा काफी दिनों से चलती आ रही है और यहां जो नियम बनाए जाते हैं वह सभी के लिए होते हैं चाहे वह प्रधानमंत्री की क्यों ना हो।

10 such temples of the country where women are banned from visiting
  1. शनि शिंगणापुर मंदिर (Shani Shingnapur Mandir, Maharashtra)

शनि शिंगणापुर मंदिर महाराष्ट्र के अहमदनगर में स्थित है। इस मंदिर में भगवान शनि देव की आराधना की जाती है। कहां जाता है कि जब इस मंदिर में महिलाएं प्रवेश करती है तो शनि देव एक अजीब तरह का तरंग छोड़ते हैं जो काफी डरावना और खतरनाक होता है। और यह तरंग महिलाओं के प्रवेश करने से होता है। इस मंदिर में को लगभग 500 सालों से महिलाओं को मंदिर में जाने पर प्रतिबंध लगा दिया है।

यह भी पढ़ें:-“भाड़ में जाओ” का प्रयोग सब करते हैं लेकिन इसका असली मतलब शायद हीं किसी को पता है: जानें

10 such temples of the country where women are banned from visiting
  1. मावली माता मन्दिर (Mawli Mata Mandir, Chhattisgarh)

मावली माता मन्दिर छत्तीसगढ़ के धमतरी स्थान में स्थित एक देवी मंदिर है। इस मंदिर का इतिहास काफी अजीबो-गरीब है। इस मंदिर में पहले महिलाएं पूजा करने जाती थी परंतु एक दिन इस मंदिर के पुजारी को एक स्वप्न आया। जिसमें उस पुजारी ने उस स्वप्न में देखा कि इस मंदिर के देवताओं को महिलाएं पसंद नहीं आते हैं। पुजारी के इस स्वप्न को देखने के बाद इस मंदिर में महिलाओं को प्रवेश करने पर प्रतिबंध लगा दिया जो आज तक के यह प्रतिबंध लगा हुआ है।

10 such temples of the country where women are banned from visiting
  1. अवधूत देवी मंदिर (Avdhoot Devi Mandir, Kerala)

अवधूत देवी मंदिर केरल के कोवलम में स्थित एक देवी मंदिर है। इस मंदिर की रहस्य यह है कि इसमें जब महिलाएं मासिक धर्म से गुजर रही होती हैं तो उन्हें इस मंदिर में प्रवेश कर पाना वर्जित माना जाता है। इसलिए इस मंदिर के बाहर ही एक बोर्ड पर बड़े-बड़े अक्षरों में लिखा गया है कि जो महिलाएं मासिक धर्म से गुजर रही है उन्हें इस मंदिर में प्रवेश पर प्रतिबंध लगा दिया है और यह हमारी संस्कृति के खिलाफ मानी जाती है। इसलिए महिलाएं मासिक धर्म के समय इस मंदिर में पूजा करने नहीं जा सकती है।

यह भी पढ़ें:-एयर इंडिया के कर्मचारी ने फ्लाइट में रोती हुई बच्ची को गोद में घुमाया, वीडियो हो रहा वायरल

10 such temples of the country where women are banned from visiting
  1. कार्तिकेय मंदिर (Kartikey Mandir, Haryana)

कार्तिकेय मंदिर हरियाणा के पिहोवा स्थान पर स्थित एक ब्रहमचारी मंदिर है। इस मंदिर की खास रहस्य यह है कि इस मंदिर में जो देवता कार्तिकेय हैं वह ब्रह्मचारी हैं। जिसकी वजह से इस मंदिर में महिलाओं को प्रवेश पर प्रतिबंध लगाया गया है। इससे साथ-साथ महिलाओं को सुनिश्चित कर दिया गया है कि जो महिलाएं इस मंदिर में प्रवेश करेगी उन्हें भगवान कार्तिके कड़ी से कड़ी सजा देंगे। जिसकी वजह से महिलाएं इस मंदिर में प्रवेश नहीं करती है।

10 such temples of the country where women are banned from visiting
  1. कामाख्या देवी मंदिर (Kamakhya Devi Temple, Assam)

कामाख्या देवी मंदिर असम के कामाख्या में स्थित एक देवी मंदिर है। यह मंदिर काफी प्रसिद्ध मंदिर मानी जाती है। इस मंदिर का इतिहास काफी अजीब है। इस मंदिर में वैसे महिलाओं पर प्रतिबंध लगाया गया है जो मासिक धर्म से गुजर रहे हैं। परंतु इतिहास यह बताती है कि यह कामाख्या मंदिर में जो देवी है वह खुद मासिक धर्म से है फिर भी इस मंदिर में वैसे महिलाओं को प्रवेश करना वर्जित रखा है जो मासिक धर्म से गुजर रही है।

यह भी पढ़ें:-कीवी की खेती आपको कर देगा मालामाल, जानिए कम लागत में अधिक मुनाफा कैसे कमाएं

10 such temples of the country where women are banned from visiting

ये देश के वो 10 वैसी मंदिर है जहां पर महिलाओं को प्रवेश वर्जित माना जाता है। कहां जाता है कि नारी के बिना पूजा अधूरी होती है। जहां नारी का वास होता है वहां पर देवी-देवताओं का भी वास होता है। परंतु इन मंदिरों में नारी को प्रवेश करना वर्जित माना गया है। यह परंपरा पिछले कई सालों से चलती आ रही है।

Related Articles

Stay Connected

0FansLike
- Advertisement -

Latest Articles